Backlink क्या है | How to make Quality Back-links?

आज मैं आपको बताऊंगा कि BACKLINK क्या है, कैसे बनाएं और किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए बैकलिंक कितना जरूरी है।

कई ब्लॉगर जिन्होंने हाल ही में एक नया ब्लॉग या वेबसाइट बनाया है,

उन्हें “बैकलिंक” शब्द का अर्थ समझने में थोड़ी कठिनाई होती है।

इन सभी सवालों के जवाब के साथ आज मैं आपको बहुत ही आसान शब्दों में समझाऊंगा कि backlink का क्या कार्य है और backlink कैसे होता है।

तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि Backlink क्या है? बैकलिंक क्या है हिंदी में?

Backlink क्या है | How to make Quality Back-links?
Backlink क्या है | How to make Quality Back-links?

Backlink क्या है?

जब Blogging के क्षेत्र में SEO की बात आती है तो सबसे ज्यादा backlink का नाम सबके दिमाग में आता है,

लेकिन दोस्तों।

कुछ नए ब्लॉगर्स को बैकलिंक्स के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है कि बैकलिंक्स क्या हैं और क्वालिटी बैकलिंक्स कैसे बनते हैं?

सबसे पहले यह जान लेते हैं कि Backlink क्या है?

बैकलिंक एक बाहरी लिंक है जो हमारी वेबसाइट में दूसरी वेबसाइट से मिल जाती है जिससे कि उस वेबसाइट के विजिटर हमारे ब्लॉग/वेबसाइट तक पहुंच जाते हैं,

स्पष्ट रूप से कहें तो बैकलिंक एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर jane ka काम करता है,

backlink कितने प्रकार के होते है और किसी भी वेबसाइट के लिए कितने महत्वपूर्ण होते है!

Backlink के प्रकार

मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं। Dofollow Backlinks और Nofollow Backlinks दोनों के अपने-अपने बैकलिंक्स हैं।

आइए जानते हैं Dofollow और Nofollow Backlinks क्या है और इनका कार्य क्या है।

Do-follow Backlinks.

यदि आप किसी अन्य वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट लिखते हैं जिसमें आपकी वेबसाइट का लिंक है, तो वह लिंक डिफ़ॉल्ट रूप से एक डू-फॉलो बैकलिंक है।

यह आपकी वेबसाइट की रैंकिंग और डोमेन अथॉरिटी को बढ़ाने में काफी मदद करता है।

आपकी वेबसाइट पर Dofollow backlink SEO के लिए बहुत फायदेमंद होता है और इससे वेबसाइट की सर्च रैंकिंग बढ़ती है।

No-follow बैकलिंक.

No-follow लिंक असरदार{juicy} लिंक नहीं होते हैं और इस प्रकार के बैकलिंक Google या सर्च इंजन में index नहीं होते हैं। जब Google या सर्च इंजन का कोई रोबोट किसी वेबसाइट पर जाता है,

तो No-follow का टैग रोबोट को links को इंडेक्स करने से रोकता है। वह है नो-फॉलो बैकलिंक्स।

साफ शब्दों में कहें तो नो-फॉलो बैकलिंक देना मतलब होता कि उस वेबसाइट का हमारी वेबसाइट से कोई संबंध नहीं है…

Quality Backlinks कैसे बनाये?

वैसे अगर आप इंटरनेट पर सर्च करते हैं कि बैकलिंक्स कैसे बनाते हैं, तो आपको यहां कई वेबसाइट मिल जाएंगी,

जिनसे आप फ्री में बैकलिंक जेनरेट कर सकते हैं, लेकिन दोस्तों उनमें से ज्यादातर बैकलिंक स्पैम हैं।

जिससे आपके ब्लॉग/वेबसाइट का स्पैम स्कोर बढ़ सकता है और इससे आपके ब्लॉग/वेबसाइट पर गूगल पेनल्टी लग सकती है और यह आपके ब्लॉग को SEO में फायदा होने के बजाय नुकसान भी पहुंचा सकता है,

इसलिए कभी भी फ्री में BACKLINK TOOLS का इस्तेमाल करके बैकलिंक न बनाएं।

Guest Post Backlinks

किसी अन्य वेबसाइट पर पोस्ट लिखने से, उसमें अपने लेख को Anchor text से लिंक करने से उत्पन्न लिंक को गेस्ट पोस्ट बैकलिंक्स कहा जाता है। गेस्ट पोस्ट बैकलिंक्स ज्यादातर डू-फॉलो बैकलिंक्स होते हैं।

इस प्रकार के बैकलिंक्स सर्च इंजन में साइट की रैंक बहुत तेजी से ऊपर लाते हैं।

Profile backlink

ऐसी बहुत सी वेबसाइट हैं जिनसे आप अपने प्रोफाइल के बैकलिंक्स प्राप्त करते हैं, डू-फॉलो से लेकर नो-फॉलो तक,

ऐसे बैकलिंक्स भी बहुत उपयोगी होते हैं और SERP बढ़ाने में मददगार होते हैं।

इंटरनल बैकलिंक्स

जब भी आप कोई आर्टिकल लिखें तो अपने दूसरे पोस्ट के वेब पेज का लिंक जरूर दें,

मैं आपको पहले ही बता चुका हूं कि इस तरह के लिंक भी आपकी साइट की वैल्यू बढ़ाने में बहुत अच्छी भूमिका निभाते हैं।

Comment Backlinks

जब आप किसी अन्य ब्लॉग/वेबसाइट पर कमेंट करते हैं, तो उस समय आप अपने ब्लॉग/वेबसाइट में एक लिंक जोड़ते हैं, तो यह आपके ब्लॉग/वेबसाइट को एक नो-फॉलो बैकलिंक देता है, जो आपके ब्लॉग के ट्रैफिक को बढ़ाने में मदद करेगा।

लेकिन दोस्तों आप अपने ब्लॉग से संबंधित वेबसाइट/ब्लॉग पर ही कमेंट करें, जिससे आपके ब्लॉग/वेबसाइट को भी फायदा होगा…

समापन

उम्मीद है कि इस पोस्ट में साझा की गई जानकारी आप सभी को समझ में आ गई होगी और यह लेख आप सभी के लिए उपयोगी रहा होगा। अगर आपको इस पोस्ट में शेयर की गई जानकारी उपयोगी लगी हो तो आप सभी इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं

और अगर इस पोस्ट से संबंधित आपका कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं,

आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *